पहली नजर

हम तुम्हारी महफ़िल सेउठकर गए चुपचाप।तुम्हारा पीछे मुड मुड कर देखना,हमें बदनाम कर गया।। वैसे तो कोई रिश्ता ना था हमारा,जब से तुम्हें देखा बाते की और समझा,तब से तुम…

बेखबर

घर हूं फिर भी दरबदर हूं होश में हूं फिर भी खुद से बेखबर हूं सब साथ है फिर भी अकेला हूं क्योंकि अभी में जिन्दगी के सफर पे हूं…